Tuesday, April 06, 2021

कैलिफ़ोर्निया पॉपी

 


गुल खिले हैं बाग़ में 

बाग़ में तो गलियों में

सिर्फ गलियों में नहीं 

खेतों खलियानों में 

केसरी चादर ओढ़े 

दुल्हन सी लगती है 

धरती कैलिफ़ोर्निया की 

लोग बारातियों जैसे 

इर्द-गिर्द घूमें उसके 

तस्वीर खेंचके लगाए 

फेसबुक में ये कहकर 

हम यहाँ भी हो आये 

कुछ भी कहा लो यारों 

कैलिफ़ोर्निया पॉपी की 

बात ही है निराली जैसे 

जब खिले फूलों की 

यूँ रंगों से भरी फुलवारी 


~ फ़िज़ा 

1 comment:

Jyoti Dehliwal said...

बहुत सुंदर।

ख़ुशी

ज़िन्दगी के मायने कुछ यूँ समझ आये  अपने जो भी थे सब पराये  नज़र आये सफर ही में हैं और रास्ते कुछ ऐसे आये  रास्ते में हर किसी को मनाना नहीं आया...