Monday, April 15, 2019

एक नोटर डायम जो जल रहा है !



झुलसकर राख बन गया सब 
इतिहास का वो सुनेहरा पन्ना 
हमेशा के लिए भस्म होगया 
सालों की मेहनत, कहानियां 
खो गयीं लपटों में ऐसे कहीं
बन के एक सदमा जैसे यूँही  
यादों के काफिले और इतिहास 
सालों तक दिलाएगा याद अब
एक मातम सा माहौल और 
एक नोटर डायम जो जल रहा है !

~ फ़िज़ा 

No comments:

उसके जाने का ग़म गहरा है

  जिस बात से डरती थी  जिस बात से बचना चाहा  उसी बात को होने का फिर  एक बहाना ज़िन्दगी को मिला  कोई प्यार करके प्यार देके  इस कदर जीत लेता है ...