Thursday, December 31, 2020

ज़िंदा हो इसीलिए नया साल मुबारक ही समझना

 


हर साल आता है साल नया 

हर पुराने साल को करने विदा 

हर गुज़रे साल से सीखते नया 

मगर होता तो नहीं कुछ भी नया 

ये साल बहुत कुछ हमें सीखा गया 

क्या चाहिए और कितना बता गया 

रोज़ मिले या न मिलें हम दोस्तों से 

दिखा दिया कौन अपना और पराया 

पैसों की ज़रुरत कम इंसान काम आया 

घर की दाल-रोटी आम का अचार भला  

स्वस्थ और स्वादिष्ट खाना सीखा गया 

ज़रुरत तो वैसे कुछ भी नहीं जीने के लिए 

वक्त ने इंसान को फिर किसान बना दिया 

बगीचों में टमाटर धन्या अब उगने लगा 

रोज़ परिवार संग बैठकर योजना बनाने लगा 

छोटे से बड़ा घर का उत्तरदायी होने लगा 

कंपनियों को समझ आने लगा निष्ठावान का 

घर से हो या बगीचे से काम तो होने लगा 

वक्त के साथ स्वस्थ्य पर निगरानी रखने लगा 

इंसान आखिर इंसान पर भरोसा करने लगा 

ज़िन्दगी देता इंसान तो वही लेता भी जान 

मास्क न पहन गैर जिम्मेदार पार्टियां करने लगा 

अपना न सही मगर औरों को खतरे में डालने लगा 

बात भी सही है अब तो वज़न कम करो अपना 

कुछ न कुछ करो पृथ्वी पर न बनों बोझ इतना 

ज़िन्दगी में पाने के लिए खोना भी पड़ता है उतना 

फिर वो ज़िन्दगी, रिश्ते, वक्त या हो खज़ाना 

दो गज ज़मीन रोटी खाने को पीने को पानी 

ज़िन्दगी सादगी में भी वो अदा है कातिलाना 

कुछ न बदलना जो सीखा इस साल ऐ ज़माना 

अति आत्मविश्वास में अपना सब कुछ न खोना 

ज़िंदा हो इसीलिए नया साल मुबारक ही समझना  

ज़िंदा रहना औरों को ज़िंदा रेहने का प्रोत्साहन देना 

नया साल स्वस्थ सकुशल हो यही है कामना !


~ फ़िज़ा 

9 comments:

अनीता सैनी said...

जी नमस्ते ,
आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (०२-०१-२०२१) को 'जीवन को चलना ही है' (चर्चा अंक- ३९३४) पर भी होगी।
आप भी सादर आमंत्रित है
--
अनीता सैनी

कविता रावत said...

जिंदगी है तभी तो नया-पुराना सब बखान है, खुशियां हैं, दुखद-सुखद यादें हैं, वर्ना सब व्यर्थ होता

बहुत खूब!
नव वर्ष सबके लिए मंगलमय हो, यही कामना है

Amrita Tanmay said...

सुन्दर भावाभिव्यक्ति । हार्दिक शुभकामनाएँ ।

Dr Varsha Singh said...

बेहतरीन एक्सप्रेशनस्
बहुत अच्छा लिखती हैं आप 🌹💐🌹

Shantanu Sanyal शांतनु सान्याल said...

सुन्दर सृजन - - नूतन वर्ष की असीम शुभकामनाएं।

Satish Saxena said...

वाह , बहुत खूब !

दिगम्बर नासवा said...

सब पर कृपा बनी रहे ...
नव वर्ष यहू ही अच्छा रहे सब के लिए ...

सधु चन्द्र said...

सुंदर सृजन।
नववर्ष की आशेष शुभकामनाओं के साथ।
सादर।

Dawn said...

@अनीता सैनी : आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !


@Kavita Rawat: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !

@Amrita Tanmay: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !

@Dr Varsha Singh: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !

@Shantanu Sanyal शांतनु सान्याल: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !

@Satish Saxena: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !


@ दिगम्बर नासवा: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !

@ सधु चन्द्र: आपका बहुत शुक्रिया आपकी टिपण्णी के लिए आभार.
आपको भी नए वर्ष की शुभकामनाएं !
आभार !


उसके जाने का ग़म गहरा है

  जिस बात से डरती थी  जिस बात से बचना चाहा  उसी बात को होने का फिर  एक बहाना ज़िन्दगी को मिला  कोई प्यार करके प्यार देके  इस कदर जीत लेता है ...