Tuesday, June 10, 2008

ख्वाबों की ज़मीन

दोस्तों मुझे बेहद ख़ुशी हो रही है ये कहते हुए की मेरी कविता की किताब – “ख्वाबों की ज़मीन ” आखिर कार परिपूर्ण हुई और इसे मैं आप तक लाने का प्रयास सक्षम कर रही हूँ . इस किताब को आप इंडिया से रुपये ८५ + भेजने का खर्चा सहित मंगवा सकते हैं जिसके लिए आपको इस ईमेल पैर सम्पर्क करना होगा fizadawn@gmail.com किंवा sajubashir@gmail.com अथवा sajubashir@yahoo.com

अगर आप ebay द्वारा मंगवाना चाहें तो उसका खर्चा US डॉलर मैं होगा ९.०० अमेरिकन डॉलर + भेजने का खर्चा सहित . Ebay मैं आप यहाँ सम्पर्क कर सकते हैं : http://cgi.ebay.com/ws/eBayISAPI.dll?ViewItem&item=260249870441
इस किताब से मिलने वाली रकम का २० प्रतिशत इंडिया मैं बसे एक अनाथ आश्रम को जायेगा जो के अच . आई .वी पीड़ित बच्चों के इलाज और उनकी देख रेख के काम आएगा .मेरी इन्तेज़ा है आप सभी से के मेरी मदत करें इस किताब को खरीदकर उन बच्चों की सहायता करें जो के अपने किसी भी दोष की वजह से नहीं फिर भी जिन्दगी जीने की कोशिश मैं लगे हैं
आप सभी की दुआओं और सहायता की मुन्तजिर
~ फिजा

8 comments:

Unknown said...

Sirf ek alfaaz "Shabaash"

Dawn said...

hirdu: shukriya

Unknown said...

bahut subdar nazmen likhti hain aap.. bahut acchi lagin..!

Anirudh 'Lallan' Choudhry said...

sry dats me(esp)

ghalati se office wale account se comment kar diya

Dawn said...

anirudh: Aapka bahut bahut shukriya....
khush rahein sada

vijay kumar sappatti said...

fiza ji , maine to khareed li , lekin iske cause ko padkar ,mujhe bahut khushi hui hai , i will surely mention it to others.

regards

vijay

Jyoti said...

bahut bahut mubarakho.

Tauseef said...

would like to read it.

कोवीड इस अचूक से आ मिला !

 सकारात्मक  होना क्या इतना बुरा है ? के कोवीड भी इस अचूक से आ मिला  जैसे ही हल्ला हुआ के मेहमान आये है  नयी दुल्हन की तरह कमरे में बंद हो गय...