Wednesday, March 09, 2011

Something tht I read - I am neither bitter nor cynical but I do wish there was less immaturity in political thinking.
Franklin D. Roosevelt

No comments:

मोहब्बत ही न होता तो मैं कहाँ होता?

मोहब्बत में मैं नहीं होता तो खुदा होता  मोहब्बत ही न होता तो मैं कहाँ होता? फ़िज़ा में दिन नहीं होता तो क्या होता?  दिन नहीं जब हो...